FALSE

Page Nav

HIDE
HIDE
HIDE

Grid

GRID_STYLE

Hover Effects

TRUE

Breaking News

latest

Morning Pray


Hara Hara Shambhu
Singer: Abhilipsa Panda, Jeetu Sharma
Lable: Jeetu Sharma


Om Namah Shivay (Dhoon)
Singer: Hemant Chauhan
Music: Appu
Lable: Soor Mandir


Om Har Har Har Mahadev
Singer: Meera Rana, Tara Devi, Fatteman, Raj Bhandari & Chorus
Music: Radio Nepal


Ashutosh Shashank Shekhar
Singer: Sonu Nigam & Chorus
Film: Shiv Mahima
Music: Arun Paudwal


Mere Ghar Ram Aye Hain
Singer: Jubin Nautiyal
Lable: T-Series


Ads by Eonads

Ads Place


अँखियाँ लड़ल जब से दिल में Ankhiyan Ladal Jab Se Dil Mein----Bhojpuri Film (Pawan Singh) Lyrics

In this song, the poet says that ever since I have seen you, love is overflowing in my mind. How can we say that you don't love me? I...


Ads by Eonads


In this song, the poet says that ever since I have seen you, love is overflowing in my mind. How can we say that you don't love me? It was not like this before. Ever since we got it, we do not care about anything. How desperate we are in wanting to see you, it has become like a disease. Keep thinking about you. My heart also keeps beating in your name. Now the purpose of living life is only that your hand is in my hand. There is no one other than you in this life.


फिल्म :सैंया के साथ मड़ैया में

गायक : पवन सिंह

गीतकार:विनय बिहारी

संगीतकार: राजेश गुप्ता

लेबल: वेव म्यूजिक


अखियां लड़ल बा जब से

दिल में करार नइखे

अखियां लड़ल बा जब से

दिल में करार नइखे

अखियां लड़ल बा जब से

दिल में करार नइखे

हम कैइसे कहीं हमके

तोहरा से प्यार नइखे

हम कैइसे कहीं हमके

तोहरा से प्यार नइखे

अखियां लड़ल बा जब से

दिल में करार नइखे

अखियां लड़ल बा जब से

दिल में करार नइखे



पहले न हाल कबहूं

अइसन रहे इ दिल के

पहले न हाल कबहूं

अइसन रहे इ दिल के

कुछ बुझात नइखे तोहसे 

का हो गइल बा मिलके

कुछ बुझात नइखे तोहसे 

का हो गइल बा मिलके

अइसन बेमारी धैइलस

कौनो सुधार नइखे

अखियां लड़ल बा जब से

दिल में करार नइखे



सोचत रहीला तोहके

तोहरे नामे दिल बा धड़के

सोचत रहीला तोहके

तोहरे नामे दिल बा धड़के

जिनगी जिए के मन बा

बहियां तोहर पकड़ के

जिनगी जिए के मन बा

बहियां तोहर पकड़ के

तोहरा सिवा इ जग में

केहू हमार नइखे

तोहरा सिवा इ जग में

केहू हमार नइखे

इस गीत में कवि कहता है कि जब से तुम्हें देखा है मन में प्यार ही प्यार उमड़ रहा है। हम कैसे कहें कि तुमसे प्यार नहीं है। पहले तो ऐसे नहीं था। जब से मिली हो तब से हमें कुछ भी ख्याल नहीं रहता है। तुम्हें देखने की चाह में हम कितना बेकरार रहते हैं, यह एक बीमारी की तरह हो गई है। तुम्हारे बारे में सोचते रहते हैं। मेरा दिल भी तुम्हारे नाम से धड़कता रहता है। अब तो जिंदगी जीने का मकसद एक ही है कि तुम्हारा हाथ मेरे हाथ में हो। तुम्हारे सिवा और कोई नहीं है इस जीवन में। 



No comments