Searching...
Friday, July 30, 2010

तनी सा जिंस ढीला करा

गुलाब जइसन बगिया में महक जालु गोरी
कोयल जइसन अममा पर चहक जालु गोरी
छतिया पर लहरे जइसे गंगाजी के पनिया
नवही तराइल बाड़े देख के जवनिया-२


केसिया में लाल पियर गमकेल गजरा
कारी कारी अंखिया में शोभेला कजरा-२
गोरिया तू रसलीला कर लीला कर-२

तनी सा जिंस ढीला करा-२
केसिया.......................................

लहरेला रेशमी कारी कारी बाल रे,
चढ़ल बा उमिर सोलह साल रे-२
होठवा के रंग देखा बाबे सतरंगी-२
हवा के झकोर में इ लागे नवरंगी
संझिया के तू मिलल कर-३

तनी सा............
केसिया................................

गुलाब इसे गमके गोरे गोरे गाल रे-३
सेमर के फूल जइसे होठवा बा लाल रे-३
फीट फाट बाबे दूनो रे लाइट-२
जिंस पैंट बावे तोहरो से टाइट
कमर तू लचीला कर-३

तनी सा...............
केसिया............

रहिया में चलेलु हिरनी के चाल रे-३
गुड्डु से बताव कइसन बा हाल रे-३
सागर में हिलोर मारे तोहरो जवनिया-३
का जाने केकर तू बनबु रनिया
अरुण के मनमां रसीला करा-३

तनी सा...................
केसिया.......................

अब गाना देखें

0 comments:

Post a Comment

loading...

advertisement

 
Back to top!