Searching...
Friday, May 22, 2015

हेरौ उगना, हेरौ उगना

गायक : हेमकांत झा
हेरौ उगना, हेरौ उगना
हमर भंग पिसना, कते गेलैं रूसना
कतेक तोरा तकबौ रौ
एही बन में, एही बन में
हेरौ उगना, हेरौ उगना
हमर भंग पिसना, कते गेलैं रूसना
कतेक तोरा तकबौ रौ
एही बन में, एही बन में

हमर गलती के माफ तू क दे
हमर गलती के माफ तू क दे
हमर खाली झोरी तों भैर दे
हमर खाली झोरी तों भैर दे
हेरौ उगना, हेरौ उगना
हमर भंग पिसना, कते गेलैं रूसना
कतेक तोरा तकबौ रौ
एही बन में, एही बन में

बड़ प्यासल छी प्यास बुझा दे
बड़ प्यासल छी प्यास बुझा दे
अप्पन जटा से गंगा बहा दे
अप्पन जटा से गंगा बहा दे
हेरौ उगना, हेरौ उगना
हमर भंग पिसना, कते गेलैं रूसना
कतेक तोरा तकबौ रौ
एही बन में, एही बन में

जे कहता उगना उदेता
जे कहता उगना उदेता
तिनका देबेन हम कंगना सनेशा
तिनका देबेन हम कंगना सनेशा
हेरौ उगना, हेरौ उगना
हमर भंग पिसना, कते गेलैं रूसना
कतेक तोरा तकबौ रौ
एही बन में, एही बन में

विद्यापति हेरैत एही बन में
विद्यापति हेरैत एही बन में
उगना बैसल छथि हमर मन में
उगना बैसल छथि हमर मन में
हेरौ उगना, हेरौ उगना
हमर भंग पिसना, कते गेलैं रूसना
कतेक तोरा तकबौ रौ
एही बन में, एही बन में

0 comments:

Post a Comment

loading...

advertisement

 
Back to top!