Searching...
Wednesday, December 25, 2019

बड़ रे जतन से हम सियाजी के पोसलूँ



फिल्म- मोरे मन मितवा
गायक - सुमन और कोरस
गीत -  ललन
संगीत- दत्ताराम


बड़ रे जतन से हम सियाजी के पोसलूँ
से हो रघुवंशा ले ले जाय -
सखिया के अँखिया से धुलै कजरवा
झर झर नीर बहाय -
झर झर नीर बहाय -


ताकय सियाजी के हहरल हिया ले ले
ताकय सियाजी के हहरल हिया ले ले
जोड़ी से बेजोड़ी कइले जाय ।
सियाजी के सेहो रघुवंशा ले ले जाय ।
जा हे! सखी तुम मुडेरे की चिड़या
भोर भये उड़ जाय
भोर भये उड़ जाय


सुन रे सखी तू तो खूँटे की गइया,
हाँको जिधर हँक जाय
सियाजी के से हो रघुवंशा ले ले जाय ।
बड़ रे जतन से हम सियाजी के पोसलूँ
से हो रघुवंशा ले ले जाय ।

0 comments:

Post a Comment

loading...

advertisement

 
Back to top!