Searching...
Saturday, June 13, 2015

दुल्हा चिन्ही लियौ आहां अप्पन दुलारी के

विवाह मैथिली गीत
गायिका : कुमकुम
प्रसंग : दुल्हन पहिचान

दुल्हा चिन्ही लियौ आहां अप्पन दुलारी के
जे छैथ प्राण पियारी से ना
दुल्हा चिन्ही लियौ आहां अप्पन दुलारी के
जे छैथ प्राण पियारी से ना
दुल्हा चिन्ही लियौ आहां अप्पन दुलारी के
जे छैथ प्राण पियारी से ना

सुनै छियै आहां छी बड़का ज्ञानी
आहांक बाप के तीन जनानी
सुनै छियै आहां छी बड़का ज्ञानी
आहांक बाप के तीन जनानी
आहां बाजब कोनो बात सोच बिचारी के ना
जे छैथ प्राण पियारी से ना
दुल्हा चिन्ही लियौ आहां अप्पन दुलारी के

यौ आहां रहे छी केहन गाम
चिन्हू कनिया बैसल बाम
यौ आहां रहे छी केहन गाम
चिन्हू कनिया बैसल बाम
आहां पकैड़ न लेबेन
यौ आहां पकैड़ न लेबेन
दहिना बैसल साली के
जे छैथ प्राण पियारी से ना
दुल्हा चिन्ही लियौ आहां अप्पन दुलारी के


आमक पल्लव लिया हाथ
हम सब देब अहांक साथ
आमक पल्लव लिया हाथ
हम सब देब अहांक साथ
यौ आहां नै चिन्हबै त
यौ आहां नै चिन्हबै त
पुत्र छी केहन नारी के
जे छैथ प्राण पियारी से ना
दुल्हा चिन्ही लियौ आहां अप्पन दुलारी के
जे छैथ प्राण पियारी से ना
दुल्हा चिन्ही लियौ आहां अप्पन दुलारी के
जे छैथ प्राण पियारी से ना

0 comments:

Post a Comment

loading...

advertisement

 
Back to top!