]]>


Searching...
Wednesday, November 4, 2015

कांच ही बांस के बहंगिया

गायिका : अनुराधा पौडवाल एवं साथाी
छठ व्रत गीत


कांच ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जाय
बहंगी लचकत जाय
होई ना बलम जी कहरिया बहंगी घाटे पहुंचाय
कांच ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जाय
बहंगी लचकत जाय

बाट जे पूछेला बटोहिया बहंगी केकरा के जाय
बहंगी केकरा के जाय
तू तो आन्हर होवे रे बटोहिया बहंगी छठ मैया के जाय
बहंगी छठ मैया के जाय
ओहरे जे बारी छठि मैया बहंगी उनका के जाय
बहंगी उनका के जाय

कांच ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जाय
बहंगी लचकत जाय
होई ना देवर जी कहरिया बहंगी घाटे पहुंचाय
बहंगी घाटे पहुंचाय
ऊंहवे जे बारि छठि मैया बहंगी के उनके के जाय
बहंगी उनका के जाय

बाट जे पूछेला बटोहिया बहंगी केकरा के जाय
बहंगी केकरा के जाय
तू तो आन्हर होवे रे बटोहिया बहंगी छठ मैया के जाय
बहंगी छठ मैया के जाय
ऊंहवे जे बारी छठि मैया बहंगी उनका के जाय
बहंगी उनका के जाय

0 comments:

Post a Comment

related post

Categories

loading...

 
Back to top!
close