Searching...
Wednesday, June 10, 2015

धान कुट हो दुल्हा धान कुट हो

बज्जिका विवाह गीत
गायक : अनुराधा पौडवाल एवं सुनील छैला बिहारी
प्रसंग : धनकुटनी






धान कुट हो दुल्हा धान कुट हो
अप्पन बिहनी के ओखरी में धान कूट हो
अप्पन बिहनी के ओखरी में धान कूट हो
कुटै छियै हे मीता कुटै छियै हे मीता 
तोहर बहिनी के ओखरी में कूटै छियै हे

धान कुट हो दुल्हा धान कुट हो
अप्पन अम्मा के ओखरी में धान कूट हो
कुटै छियै हे सखी कुटै छियै हे सखी
अप्पन सासु के ओखरी में कूटै छियै हे

धान कुट हो दुल्हा धान कुट हो
अप्पन चाची के ओखरी में धान कूट हो
कुटै छियै हे समधी कुटै छियै हे सखी
अप्पन सरहज के ओखरी में कूटै छियै हे

धान कुट हो दुल्हा धान कुट हो
अप्पन बुआ के ओखरी में धान कूट हो
कुटै छियै हे सहेली कुटै छियै हे सखी
सब छौड़ी सब के ओखरी में कूटै छियै हे

0 comments:

Post a Comment

loading...

advertisement

 
Back to top!