]]>


Searching...
Saturday, September 8, 2018

जोगिया मोर जगत सुखदायक





फिल्म/एल्बम : उगना
गायक : हरिनाथ झा
गीतकार : विद्यापति



आगे माई, जोगिया मोर जगत सुखदायक, दुःख ककरो नहिं देल
दुःख ककरो नहिं देल महादेव, दुःख ककरो नहिं देल !
एही जोगिया के भाँग भुलैलक, धतुर खोआई धन लेल !
आगे माई, कार्तिक गणपति दुई जन बालक, जन भरी के नहिं जान !
तिनक अभरन किछओ न टिकइन, रतियक सन नहिं कान !
आगे माई, सोना रूपा अनका सूत अभरन, अपने रुद्रक माल !
अपना मँगलो किछ नै जुरलनी, अनका लै जंजाल !
आगे माई, छन में हेरथी कोटिधन बकसथी, वाहि देवा नहिं थोर !
भनहिं विद्यापति सुनू हे मनाइनि, इहो थिका दिगम्बर मोर !

0 comments:

Post a Comment

loading...

 
Back to top!
close
Molderizer and Safe Shield