]]>


Searching...
Saturday, October 6, 2018

गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया



फिल्म : प्यार के बंधन
गायक: उदित नारायण, कल्पना
गीतकार: विनय बिहारी
संगीत : धनंजय मिश्रा
संगीत कंपनी: टी सीरीज


मुहब्बत के मौसम बदल न सके
हाल दिल के संभाले संभल न सके
रोग अइसन भइल बा बताई का हम
मन के महफिल से मस्ती निकल न सके

गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया
गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया
नींद नैना के चैन दिल से ले गईल अंखिया
नींद नैना के चैन दिल से ले गईल अंखिया
गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया
गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया

बसेरा बन गई ल हमार अंखिया महबूब के
पार करब आगि के दरिया आगी में डूब के
का कही केतना दीवाना बा दिल सनेहिया में
मन करे हम रही समाइल तोहरे बहिया में
न्योता नेहिया के निशानी में दे गई अंखिया
न्योता नेहिया के निशानी में दे गई अंखिया 
गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया
गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया

तोहके दिल में राखब दिल के अरमान बना के
जान जबले रही कसम से तोहके जान बना के
प्यार इतना बा जुदा होके जी ना पाइब हो
गीत के नेहिया के उमर भर हम साथे गाइब हो
प्यार इतना बा जुदा होके जी ना पाइब हो
गीत के नेहिया के उमर भर हम साथे गाइब हो
छाप अइसन  के पसानी में दे गई ल अंखिया में 
छाप अइसन  के पसानी में दे गई लअंखिया में 
गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया
गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया
गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया
गजब के रोग जवानी में दे गईल अंखिया

0 comments:

Post a Comment

loading...

 
Back to top!
close